Acharya Satish Awasthi

Author's posts

जाने कहां स्थित हैं भगवान शिव के पवित्र ज्योतिर्लिंग

भगवान शिव के कुल बारह ज्योतिर्लिंग हैं  सोमवार को भगवान शिव के विशेष स्थान ज्योतिर्लिंगों में भारी भीड़ उमड़ती है। ये पवित्र शिवलिंग पूरे देश में प्रतिष्ठित हैं और इनकी कुल संख्या बारह है। भगवान शिव के इन ज्योतिर्लिंग को प्रकाश लिंग भी कहा जाता है। ये पूजा के लिए भगवान शिव के पवित्र धार्मिक …

Continue reading

घर में पूजा का नियम, कैसी मूर्ति रखें व पूजन सामग्री से जुड़ी खास बातें

घर में रखें कैसी मूर्ति : घर के मंदिर में ज्यादा बड़ी मूर्तियां नहीं रखनी चाहिए। शास्त्रों के अनुसार बताया गया है कि यदि हम मंदिर में शिवलिंग रखना चाहते हैं तो शिवलिंग हमारे अंगूठे के आकार से बड़ा नहीं होना चाहिए। शिवलिंग बहुत संवेदनशील होता है और इसी वजह से घर के मंदिर में …

Continue reading

शनि आमावस्या की पूजा, दान और मंत्र

शनि देव को नौ ग्रहों में न्याय का देवता माना जाता है।इस बार ज्येष्ठ मास की अमावस्या 3 जून 2019 को है। जिसे शनि जंयती के रूप में भी मनाया जाएगा। इस बार 3 जून 2019 की तिथि खास है क्योंकि आज के दिन शनि अमावस्या, सोमवती अमावस्या और वट सावित्रि व्रत तीनों ही हैं। …

Continue reading

जाने स्वास्तिक चिन्ह का महत्व

एक दूसरे को काटती हुई दो रेखाओं और आगे चल कर उनके चारों सिरों के दांई ओर मुड़ जाने वाले चिह्न को स्वस्तिवाचन का प्रतीक माना जाता है। स्वास्तिक अति प्राचीन पुण्यप्रतीक है, जिसमें गूढ़ अर्थ और गंभीर रहस्य छुपे हैं। स्वस्तिक जिस मंत्र के प्रतीक रूप में चित्रित किया जाता है, वह यजुर्वेद से …

Continue reading

वट सावित्री व्रत पूजा-विधि

वट सावित्री व्रत ज्येष्ठ कृष्ण अमावस्या को मनाया जाता है। इस बार वट सावित्री का व्रत 03 जून 2019 (सोमवार) को है। वट सावित्री व्रत की कथा सत्यवान-सावित्री की कथा जुड़ी हुई है। जिसमें सावित्री ने अपने संकल्प और श्रद्धा से, यमराज से, सत्यवान के प्राण वापस ले लिए थे। वट सावित्री व्रत पर महिलाएं …

Continue reading

नामकरण संस्कार: किस प्रकार किया जाना चाहिए

नामकरण संस्कार के बारे में स्मृति संग्रह में लिखा है-नामकरण संस्कार से आयु एवं तेज में वृद्धि होती है। नाम की प्रसिद्धि से व्यक्ति का लौकिक व्यवहार में एक अलग अस्तित्व उभरता है। नामकरण संस्कार संपन्न करने के संबंध में अलग-अलग स्थानों पर समय की विभिन्नताएं सामने आई हैं। जन्म के 10वें दिन सूतिका का …

Continue reading

स्वप्न शास्त्र के अनुसार सपने में धार्मिक स्थल देखने का क्या अर्थ होता है

सपने में धार्मिक स्थल देखना : सपने भविष्य का आइना होते हैं। स्वप्न शास्त्र के अनुसार सपने भविष्य में होने वाली अच्छी और बुरी घटनाओं का सूचक होते हैं। कई बार हम ऐसे सपने देखते हैं। जिसे देखकर हम बैचेन हो उठते हैं और उनका मतलब भी जानना चाहते हैं। ऐसा ही स्वप्न है धार्मिक …

Continue reading